नई दिल्ली
पुलवामा आतंकी हमले को रूटीन अटैक घटना बताने वाले कांग्रेस लीडर सैम पित्रोदा के बयान पर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने सीधे तौर पर राहुल गांधी पर तीखा वार किया है। अमित शाह ने कहा कि राहुल गांधी को सैम पित्रोदा के बयान पर शहीदों के परिवारों और जनता से माफी मांगनी चाहिए। उन्होंने कहा कि सिर्फ किनारा करने से कुछ नहीं होगा। देश की जनता उसकी नीति को समझती है और इसीलिए उसने कांग्रेस को ही किनारे लगा दिया है। शाह ने मीडिया से बात करते हुए कहा, ‘कांग्रेस पार्टी के विदेश विभाग के कोऑर्डिनेटर और चुनाव घोषणा पत्र समिति के सदस्य सैम पित्रोदा का जो बयान आया, वह काफी चिंताओं को जन्म देने वाला है।’ शाह ने कहा कि पित्रोदा ने कहा था कि कुछ लोगों की हरकत पर पूरे देश को दोषी ठहराना चाहिए, इस पर राहुल को यह बताना चाहिए कि क्या वह आतंकी घटनाओं के लिए पाक को जिम्मेदार नहीं मानते। उन्होंने कहा कि राहुल को यह भी बताना चाहिए कि पित्रोदा के बातचीत से आतंकवाद से निपटने की बात पर उनकी क्या नीति है।

शाह ने तीखा वार करते हुए कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष को यह बात स्पष्ट करनी चाहिए कि क्या वह ऐसे जघन्य हमले को सामान्य घटना मानते हैं। बीजेपी चीफ ने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक के वक्त राहुल गांधी ने ‘खून की दलाली’ की बात कही थी और अब एयर स्ट्राइक पर सवाल उठा रहे हैं। उन्हें इसके लिए देश की जनता से माफी मांगनी चाहिए।

‘कांग्रेस के बयान से बढ़ा आतंकवादियों का मनोबल’
अमित शाह ने कहा, ‘कांग्रेस के इस बयान से शहीदों का अपमान हुआ है और देश को हताहत करने में लगे लोगों का मनोबल बढ़ा है। 7 मार्च को खुद कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि एयर स्ट्राइक पर उठे सवालों के जवाब मिलने चाहिए। आप किसके जवाब चाहते हैं। कौन सवाल उठा रहा है। वह परोक्ष रूप से किसका समर्थन कर रहे हैं।’

बयान से किनारा करने वालों को जनता ने लगाया किनारे

कांग्रेस की ओर से पित्रोदा के बयान को निजी बताने पर शाह ने कहा कि राजनीति में कुछ भी निजी नहीं होता है। उन्होंने कहा, ‘मैं कांग्रेस को एक सलाह देना चाहता हूं कि आपके किनारे को जनता ठीक तरह से समझती है और आपको किनारे कर दिया है। कभी पी. चिदंबरम, कपिल सिब्बल, नवजोत सिंह सिद्धू, मणिशंकर अय्यर और कभी संदीप दीक्षित जैसे लोगों के बयान को व्यक्तिगत बयान देते हो। लेकिन, इन्हें कुछ नहीं होता है। यह राहुल गांधी की रणनीति का हिस्सा है। कांग्रेस अध्यक्ष को अब स्वयं माफी मांगनी चाहिए।’

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here